मेरी आवाज सुनो

मेरी आवाज़ ही पहचान है॥

88 Posts

766 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 1412 postid : 528

जल उठी फ़िर ..क्रांति की एक मशाल

  • SocialTwist Tell-a-Friend

मशाल

नाम: किसन बाबूराव हजारे

जन्म :15 जून 1938 को महाराष्ट्र के अहमद नगर के भिंगर कस्बे में।

पिता: मजदूर थे,और  दादा फौज में।

पढ़ाई: सातवीं तक।

पहली पोस्टिंग :बतौर ड्राइवर पंजाब में।

उनकी पेंशन का सारा पैसा गांव के विकास में खर्च होता है। आज हम जीसका परिचय दे रहे हैं उन्होंने अपनी एक आवाज़ से सारे भारत में क्रांति की एक मशाल जलाई है ।

देखें क्या है ये लोकपालबील!!!!

लोकपाल विधेयक की मुख्य विशेषताओं पर एक नज़र:

1. हर राज्य में केंद्र लोकायुक्त पर लोकपाल  का गठन किया जाएगा।

2. सुप्रीम कोर्ट और चुनाव आयोग की तरह, वे पूरी तरह से सरकारों से स्वतंत्र हो जाएगा।

3. भ्रष्ट लोगों के खिलाफ मामले पर साल के तक के लिए भी  और नहीं ठहराया  जायेगा। किसी भी मामले में जांच के लिए एक वर्ष में पूरा करना होगा। भ्रष्ट राजनीतिज्ञ अधिकारी, को  दो साल के भीतर जेल भेज दिया जायेगा।

4. यदि किसी भी नागरिक के किसी भी काम किसी भी सरकारी कार्यालय में निर्धारित समय में नहीं किया है, लोकपाल दोषी अधिकारियों, जो शिकायतकर्ता को मुआवजे के रूप में दिया जाएगा और उस पर वित्तीय जुर्माना लगाया  जाएगा।

5. लोकपाल के लिए एक साल में अपनी जांच पूरी करनी होगी, परीक्षण पर अगले एक साल में हो सकता है और दोषी दो साल के भीतर जेल जाना होगा।

6 उसके सदस्यों नेताओं द्वारा न्यायाधीशों, नागरिक और संवैधानिक अधिकारियों और नहीं द्वारा चयन किया जाएगा एक पूरी तरह से पारदर्शी और भागीदारी की प्रक्रिया के माध्यम से होगा।

7. लोकायुक्त का पूरा कामकाज पूरी तरह से पारदर्शी हो जाएगा। लोकपाल के किसी भी अधिकारी के खिलाफ यदि कोई शिकायत है तो  जांच की जाएगी और अधिकारी दो महीने के भीतर खारिज कर दिया जायेगा।

8. यदि आपका राशन कार्ड या पासपोर्ट या मतदाता कार्ड या नहीं किया जा रहा बनाया है या हो सकता है पुलिस द्वारा  या किसी अन्य काम निर्धारित समय में नहीं किया जा रहा है ।लोकपाल करने के लिए यह एक महीने के समय में किया होगा। राशन की तरह भ्रष्टाचार के किसी मामले की रिपोर्ट को  बाजार में बेच देते सकता है। गरीब गुणवत्ता की सड़कों का निर्माण किया गया है या पंचायत फंड बाजार में बेच देते जा रहा है।लोकपाल के लिए एक साल में अपनी जांच पूरी करनी होगी।

9. सीवीसी, विभागीय सतर्कता और सीबीआई की भ्रष्टाचार निरोधक शाखा लोकपाल में विलय हो जाएगा. लोकपाल पूर्ण शक्तियां और मशीनरी के लिए स्वतंत्र जांच और किसी भी अधिकारी न्यायाधीश, या राजनीतिज्ञ अभियोग होंगे।

10. यह लोकपाल का कर्तव्य होगा कि जो लोग भ्रष्टाचार के खिलाफ अपनी आवाज उठा रहे हैं उन्हें सुरक्षा प्रदान कि जाएगी।

| NEXT



Tags:

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (4 votes, average: 3.25 out of 5)
Loading ... Loading ...

9 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

annurag sharma(Administrator) के द्वारा
October 4, 2012

रजिया जी नमस्कार ,बहुत ही अच्छा आलेख एक समाज सुधारक के लिये बधाई

pitamberthakwani के द्वारा
August 5, 2012

आदरणीय ,रज़िया मिर्ज़ा जी, सलाम क़ुबूल करें यह दुखी समाज आपका आभारी है.आप वास्तव में अछा लिखती हैं.मैं अपनी पंक्तियों पर भी आपके विचारों का आशीर्वाद चाहूंगा !

seemakanwal के द्वारा
August 5, 2012

रज़िया जी आदाब .उनकी ईमानदारी के कारण ही उन्हें एक बार अवसर जरुर देना चाहिए .अगर वे चुनाव लड़ते हैं .हो सकता है इस मशाल से और मशालें जलें जिससे सारा देश रौशन हो जाये .हार्दिक धन्यवाद .

syeds के द्वारा
April 21, 2011

रज़िया जी, अन्ना हज़ारे जी ने तो भ्रष्टाचार के खिलाफ जो बिगुल बजाय है… हम सब की ज़िम्मेदारी है….की हम उनका साथ दें और भ्रष्टाचार को उखाड़ फेंकें,बेहतरीन जानकारी के लिए धन्यवाद… http://syeds.jagranjunction.com

nishamittal के द्वारा
April 19, 2011

ईमानदारी से तथा सही नियत से प्रारम्भ किया गया ये अभियान अपने लक्ष्य में सफल हो ऐसी कामना हमें करनी चाहिए,रज़िया जी.

allrounder के द्वारा
April 16, 2011

रजिया जी, नमस्कार ! अन्ना हजारे जी ने जो मशाल जलाई है उसे बुझने न दिया जाए यही एक भारतीय का परम कर्तव्य होना चाहिए ! कामना यही है की लोकपाल बिल मैं आम जनमानस के लिए जो आशा की किरण दिखाई दे रही है बो पूरी हो सके ! जय हिंद !

abodhbaalak के द्वारा
April 16, 2011

क्या बात है रज़िया जी. आपने तो लोकपाल बिल को इतने सिंपल अंदाज में समझाया की ……………….. बहुत ही ज्ञानवर्धक लेख, उम्मीद करते हैं की इस से कुछ तो बदलाव ……….. उम्मीद ………………… जिसका दामन कभी नहीं छोड़ना चाहिए … http://abodhbaalak.jagranjunction.com/

Rajkamal Sharma के द्वारा
April 16, 2011

आदरणीय रज़िया जी …सादर अभिवादन ! आपने लोकपाल बिल के उपर बहुत ही बढ़िया जानकारी दी है…..लेकिन मन में एक इच्छा भी उठी है की काश सभी लोकपाल जापान से उधार ले लिए जाए …… पुरानी मानसिकता वाले लोग कुछ नया + सार्थक कर पाएंगे इसमें संदेह है ….. फिर भी एक बार शुरुआत तो हो , बाकि उसके बाद तो जागरूक जनता खुद ही करवा लेगी सभी जरूरी सुधार ….. एक बढ़िया पोस्ट पर बधाई

baijnathpandey के द्वारा
April 15, 2011

वाह आदरणीया रजिया जी ………सार्थक एवं सारगर्भित आलेख …….उपयोगी जानकारियों से परिपूर्ण ….आप सचमुच गागर में सागर भरने का काम करती हैं | साधुवाद |


topic of the week



latest from jagran